My Sugar Reduced 200 Points

Smt. Beramwati, Fatehpur Beri, Delhi-74

मैं बिरमवती पिछले कई वर्षों से मोटापा, शुगर, कब्ज, ब्लडप्रेशर, एवं घुटनों के दर्द से परेशान थी। मेरा वजन 117 किलोग्राम होने की वजह से मुझे चलने फिरने उठने बैठने में बड़ी तकलीफ होती थी।

मेरे पति महेन्दर सिंह को जब अध्यात्म साधना केन्द्र छत्तरपुर दिल्ली के बारे में पता चला तो वह वहाँ डाक्टर साहब से मिलने गये, और मेरी सारी समस्या बताई तो उन्होंने कहा कि उन्हें सात दिन के शिविर में यहाँ पर रखें। पहले तो मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि मुझे लाभ होगा। क्योंकि मैं पिछले पाँच साल से अंग्रेजी दवायें खाकर तंग आ चुकी थी मुझे इन्सुलिन भी लगती फिर भी मेरी फास्टिंग शुगर 350 से नीचे नहीं आ रही थी। मैं बहुत परेशान हो गई थी। मुझे कठोर कब्ज था जिसकी वजह से पाँच सात दिन तक मल नहीं आता था पेट फूल जाता था जिससे सांस लेने में भी तकलीफ होती थी।

पति के आग्रह पर मैंने शिविर में भाग लिया | यहाँ मुझे प्राकृतिक चिकित्सा के उपचार एनिमा, फुटबाथ, पेट में ठंडा-गर्म सेक आदि कराये गये जिनसे मुझे पहले दिन से बहुत लाभ हुआ। खाने में भी फल-सब्जियां, दलिया, खिचड़ी, रोटी,सलाद, हर्बलचाय, काढ़ा आदि हल्का व सुपाच्य खाना दिया गया। दूसरे दिन से मेरा पेट साफ होने लगा और शरीर का भारीपन कम हुआ, मुझे पहले नींद नहीं आती थी। किन्तु पहले दिन से ही जब कायोत्सर्ग कराया गया तो मैं सोने लगी और मेरी आंखों की जलन भी शांत हो गई।

तीसरे दिन मेरी शुगर 200 हो गई अब मेरा मन यहाँ लगने लगा था। सुबह जल्दी उठना, ध्यान, योगासन, प्राणायाम का अभ्यास आदि भी मैं धीरे-धीरे करने लगी थी। क्योंकि पहले मैं दर्द के कारण कोई अभ्यास नहीं कर पाती थी। मुझे बहुत टेंशन भी थी जो प्रेक्षाध्यान, मंत्रों के प्रयोग, रंगों का ध्यान व कायोत्सर्ग करने से खत्म हो गई।       

चैथे दिन मेरा ब्लडप्रेशर 130/90 (नार्मल)हो गया जो पहले दिन 150/100 था। पांचवे दिन मेरी शुगर 175 आ गई और मुझे इन्सुलिन की मात्रा भी कम करनी पड़ी। मैं अपने पति को मन ही मन दुआ दे रही थी कि उन्होंने मुझे शिविर में भर्ती कराया।

कैम्प के अन्तिम दिन मेरी शुगर 150 हो गई। मेरा वजन कम हो गया। और घुटनों का दर्द ठीक होने से अब मैं आराम से चल पा रही हूँ। यहाँ का स्वास्थ्य दायक, सकारात्मक वातावरण किसी के भी मन को मोह लेता है। डॉक्टरों, प्रशिक्षकों व अन्य सभी का सहज व सरल व्यवहार रोगी को स्वतः निरोगी बना देता है।

यहां बाहर से भी कई डाक्टरों ने आकर हमें अपनी अनुभवपूर्ण जानकारी दी। यहां के प्रभारी श्री के.सी. जैन साहब ने सभी शिविरार्थियों को अपने उदबोधन से प्रेक्षाध्यान पर सारगर्भित जानकारी दी व उन्हें प्रेरित किया।

मैंने यहां आकर नया जीवन पाया और मुझे चमत्कारिक लाभ हुआ। इसके लिये मैं आप सभी का धन्यवाद करती हूँ और आगे आने वाले शिविरों में भी पुनः भाग लूंगी यह संकल्प करती हूं क्योंकि घर में पूरी व्यवस्था नहीं हो पाती। मैं अपने सभी परिचितों को भी अध्यात्म साधना केन्द्र के कैम्प के बारे में जानकारी दूंगी | पुनः हृदय से आभार । धन्यवाद।

Previous - We Both are Very Relaxed Next - Helpful in Raising the Quality of Life

Contact Us

Phone: (+91) 11 2680 2708

Mobile: (+91) 96433 00653, 55, 58

Email: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

Address: Near Mata Mandir, Chhatarpur, New Delhi - 74 (India)

Join us on Social Network

Next Camp Starts from 21st of December, 2018

Rejuvenate your mind, body & soul. Registration open. Register now and avail GREAT DISCOUNTS.